लिव-52 सिरप के 9 फायदे नुकसान।liv 52 syrup ke fayde in hindi

बदलती जीवन शैली और खान पान के कारण आज कल पेट की समस्याएं आम बात हो गई हैं जिसमे लिवर सबंधित समस्याएं सभी के लिए चिंताजनक होती हैं यह आपके स्वास्थ्य को बहुत तेजी से प्रभावित करती हैं।

आज बाजार में लिवर से संबंधित रोगों के उपचार के लिए हजारों दवाइयां मौजूद हैं। तथा हम अपने इस लेख मैं ऐसे ही एक दवाई लिव-52 सिरप के फायदे और नुकसान मैं जानेंगे और इसका सेवन किस प्रकार किया जाता हैं तथा इसके उपयोग से जुड़ी सावधानियों के बारे मैं भी जानेंगे।

लिव 52 सिरप क्या हैं। liv 52 syrup in hindi

लिव 52 सिरप मुख्य रूप से लिवर से संबन्धित रोगों के उपचार के लिए उपयोग की जाने वाली एक आयुर्वेदिक दवाई है जो की सिरप के रूप में आती है जिसके निर्माता भारत की प्रसिद्ध कंपनी हिमालया हैं।

यह भी पढ़े : पतंजलि यौवनामृत वटी के 6 फायदे नुकसान


लिव 52 सिरप के फायदे। liv 52 syrup benefits in hindi

लिव 52 सिरप के फायदे क्या है? लिव 52 सिरप मुख्यता आपके लीवर के लिए एक उपयोगी ओर सहायक आयुर्वेदिक दवाई है। तो आइए हिमालय लिव 52 सिरप के फायदों के बारे मैं विस्तार से जानते हैं।

1 . भूख बढ़ाये 

भूख बढ़ाने के लिए भी लिव 52 सिरप बेहद फायदेमंद औषधि हैं  यह पाचन क्रिया को बेहतर कर भोजन को पचने मैं मदद करता हैं और कम भूख लगने की समस्या को दूर करता हैं। 

2 . पिलिआ रोग के लिए 

पिलिआ रोग के उपचार के लिए भी लिव 52 सिरप एक सहायक और फायदेमंद दवाई हैं यह लिवर के स्वास्थ्य को बेहतर बनाता हैं और तथा बिलीरुबिन( पिलिआ होना का कारण ) पदार्थ को बाहर निकालने और फ़िल्टर करने मैं लिवर को सक्षम बनता हैं। 

3 . फैटी लिवर के लिए फायदेमंद 

फैटी लिवर के उपचार के लिए भी लिव 52 सिरप काफी लाभदायक दवाई हैं फैटी लिवर की समस्या अधिक शराब पिने, अधिक वास वाले भोजन ,अधिक मीठा और किसी गंभीर बीमारी जेसे कारणों से हो सकता हैं तथा लिव 52 सिरप फैटी लिवर के उपचार मैं सहायता प्रदान करता हैं। 

4 . हेपेटाइटिस के लिए 

हेपेटाइटिस रोग के उपचार हेतु भी लिव 52 सिरप उपयोगी हैं। हेपेटाइटिस के दौरान लिवर सूजन और पेट मैं जलन और दर्द , उलटी , बुखार जैसे लक्षण होते हैं तथा लिवर भोजन को पचाने ऊर्जा को एकत्रित करने और विषाक्त पदार्थो को बाहर निकलने मैं असमर्थ हो जाता हैं।  

लिव 52 सिरप हेपेटाइटिस के लक्षणों को कम करने तथा लिवर के स्वास्थ्य को पुनस्थापित करने और इसे बेहतर बनाने मैं मदद करता हैं। 

यह भी पढ़े : मरदाना ताकत को बढ़ाये यह दवाई।

5 . लिवर सोरायसिस के लिए 

लिवर सोरायसिस के लिए लिव 52 सिरप एक सहायक औषधि के रूप मैं कार्य करती हैं लिव 52 सिरप के सेवन से लिवर सोरायसिस मैं लाभ लिया जा सकता हैं। 

लिवर सोरायसिस एक ऐसी स्थिति हैं जिसमे लिवर को किसी कारण क्षति पहुंचने से लिवर मैं धीरे धीरे खराबी आने लगती हैं और इसके कार्य करने की क्षमता गिरावट आ जाती हैं। 

6 . पाचन को बेहतर बनाए

बार बार पेट की खराबी एक अस्वस्थ्य पाचन की ओर इशारा करता हैं तथा पाचन क्रिया को स्वस्थ्य बनाए रखने में लिव 52 सिरप फायदेमंद है यह खराब पाचन को सुधारने को में सहायता करता हैं। 

7 .हेपेटोटॉक्सिसिटी में लाभकारी।

हेपेटोटॉक्सिसिटी ऐसी स्थिति है जिसमे कुछ औषधीय रासायनिक पदार्थों के कारण लिवर क्षतिग्रस्त हो जाता है जिसे हेपेटोटॉक्सिसिटी कहते हैं तथा जिससे बचाव और उपचार मैं लिव 52 सिरप मदद करता हैं। 

लिव 52 सिरप मैं हेपेटोप्रोटेक्टिव गुण होता हैं यह हेपेटिक पैरानचिमा को सुरक्षा प्रदान करता हैं और हेपेटोसेलुलर उत्पादन को बढ़ाता हैं एवं हेपेटोटॉक्सिसिटी की समस्या से लड़ने मैं मदद करता हैं। 

8. लिवर को स्वस्थ्य रखे।

जैसा कि लिव 52 सिरप के नाम से ही यह प्रदर्शित होता हैं की यह लिवर के लिए उपयुक्त दवाई हैं यह लिवर को स्वस्थ्य बनाए रखने मै मदद करता एवम लिवर को होने वाले नुकसान ओर दुष्प्रभावों से बचाता हैं।

9. गृभवति महिलाओ के लिए

गर्भावस्था के दौरान अक्सर भूख न लगने की  समस्या गर्भवती महिलाओ मैं देखने को मिलती हैं तथा जिसमे लिव 52 सिरप सहायता कर सकता हैं इसके सेवन से गर्भवती महिलाओ मैं भूख न लगने की समस्या दूर होती हैं। लेकिन गर्भवती महिलाओ को इसका सेवन चिकित्सक के परामर्श के बिना नहीं करना चाहिए।

यह भी पढ़े : पतंजलि की यह दवाई हैं वजन कम करने के लिए।


लिव 52 सिरप के नुकसान। liv 52 syrup side effects in hindi

लिव 52 सिरप एक आयुर्वैदिक दवाई है जिसके कारण से इसके दुष्प्रभावों के बारे चिकित्सा जगत मैं ज्यादा अधिक जानकारी उपलब्ध नहीं है अथवा अज्ञात हैं।

लेकिन किन्ही स्थितियों मैं लिव 52 सिरप के नुकसान देखने को मिल सकते हैं तो आइए लिव 52 सिरप के दुस्प्रभावो के बारे मैं विस्तार से जानते हैं।

  • निर्धारित मात्रा से अधिक और गलत तरीके से सेवन करने पर लिव 52 सिरप के नुकसान देखने को मिल सकते हैं।
  • शराब पीने के बाद यदि लिव 52 सिरप का सेवन करने पर यह आपके लिए नुकसान दायक हो सकता हैं।
  • अगर आपको लिव 52 सिरप मैं उपस्थित सामग्री से किसी प्रकार की एलर्जी या समस्या है और आप इसका सेवन करते है तो भी इसके नुकसान देखने को मिल सकते हैं।
  • एक्सपायरी हो चुके लिव 52 सिरप के इस्तेमाल से भी आपको नुकसान हो सकते हैं।

यह भी पढ़े : न्यूट्रीगेन पाउडर के फायदे,नुकसान।


लिव 52 सिरप से संबंधित सावधानी।

लिव 52 सिरप के इस्तेमाल के दौरान कुछ सावधानियां बरतने की आवश्यकता होती है जिन्हे यदि आप ध्यान मैं रखते है तो जाने अनजाने मैं होने वाली हानि से बचा जा सकता हैं।

1) गर्भवती महिलाओं को लिव 52 का सेवन डॉक्टर के परामर्श बिना नहीं करना चाहिए यह बच्चे और महिला के लिए नुकसान दायक भी हो सकता हैं।

2) ऐसे लोग जो की किसी गंभीर समस्या से पीड़ित है और उपचार ले रहे हैं उन्हें लिव 52 सिरप का सेवन चिकित्सक की सलाह से करना चाहिए।

3) स्तनपान करने वाली महिलाओं को इसका सेवन चिकित्सक की सलाह से करना चाहिए।

4) हाई बीपी और डायबिटीज के मरीजों को इसका सेवन नही करना चाहिए यदि करना चाहते है तो एक बार चिकित्सक की सलाह जरूर लें।

यह भी पढ़े : कायाकल्प वटी के फायदे नुकसान।


लिव 52 सिरप सेवन विधि। liv 52 syrup uses in hindi

किसी भी दवाई को लेने का एक सही समय मात्रा और नियम होते है तभी यह आपके शरीर को पूर्ण रूप ओर सही ढंग से फायदा पहुंचाती है। तथा अक्सर लोगो के मन मैं यह सवाल होता ही की लिव 52 सिरप का सेवन कैसे करें? 

तो आइए हिमालय लिव 52 सिरप के सेवन विधि के बारे मैं जानते हैं।

विधि : वयस्कों और बुजुर्गो को लिव 52 सिरप का सेवन दिन मैं दो बार 2–2 चम्मच खाली पेट भोजन के आधे घंटे पहले करना चाहिए।

बच्चो को लिव 52 का सेवन दिन दो बार 1–1 चम्मच खाली पेट भोजन के आधे घंटे पहले करना चाहिए।

ध्यान रहें: 

1) बताई गई मात्रा शारीरिक स्वास्थ्य,आयु ओर रोगी के अनुसार अलग अलग हो सकती हैं।

2)यदि आप लिव 52 सिरप का सेवन डॉक्टर की सलाह से कर रहे है तो उनके द्वारा बताए गए विधि से ही करे।

यह भी पढ़े : इकोप्रोट पाउडर के फायदे।


लिव 52 सिरप घटक सामग्री। liv 52 syrup ingredients in hindi

  • हिमसरा
  • कसानी
  • काकामाची
  • अर्जुन
  • कासमर्द
  • झावुका
  • बिरंजसीफा
  • भृगराज
  • भुई आमला
  • पुनर्नवा
  • गुडुची
  • दरुहरिद्रा
  • अमलकी
  • चित्रक
  • हरितकी
  • विडंग

यह भी पढ़े : MB रॉ व्हे प्रोटीन के फायदे नुकसान।


FAQ

Q: लिव 52 दवाई क्या काम करती है?

ANS: लिव 52 लिवर संबधी रोगों के उपचार ओर पाचन विकार एवम भूख बढ़ाने और पीलिया, हेपेटाइटिस जेसे रोगो के लिए लाभदायक हैं।

Q: लिव 52 सिरप का सेवन कैसे करें?

ANS: लिव 52 सिरप का सेवन भोजन के पहले 2 चम्मच दिन मैं दो बार किया जाता हैं।

Q: लिव 52 डी एस कब खाना चाहिए?

ANS: लिव 52 डी एस सिरप भोजन के पहले खाली पेट खाना चाहिए।

Q: लिव 52 सिरप कितने रुपए का है?

ANS: लिव 52 सिरप की कीमत 125 रुपए हैं।

Q: लिव 52 किसकी दवा है?

ANS: लिव 52 हिमालय कंपनी की देवी हैं जो की गोली और सिरप रूप मैं आती हैं यह लिवर सम्बन्धी रोगो और पेट के लिए फायदेमंद हैं। 

Bablu Bhengra
Spread the love

Leave a Comment