बाल झड़ने की दवा पतंजलि। Patanjali medicine for hair fall & growth

बाल झड़ने की दवा पतंजलि। बाल झड़ने की दवा का नाम। बाल उगाने की आयुर्वेदिक दवा। बाल उगाने की होम्योपैथिक दवा। बाल उगाने की टेबलेट। बाल झड़ने की होम्योपैथिक दवा। नये बाल उगाने का तेल


बाल झड़ने की समस्या लोगो मैं होने वाली एक आम और गंभीर समस्या होती जा रही है जिससे की आज के समय पुरुष और महिला प्रभावित है बाल झड़ना रोकने के लिए आज अनेकों प्रकार के उत्पाद और दवाइयां बाजार मैं उपलब्ध है।

तथा इस लेख मैं हम बाल झड़ने की दवा पतंजलि के बारे मैं जानेंगे साथ ही साथ इन दवाओ इसका उपयोग केसे किया जाता है तथा इसके इस्तेमाल के दौरान आपको कौन कौन सी सावधानियां रखनी चाहिए इसके बारे में भी हम इस लेख मे जानेंगे।


बाल झड़ने की दवा पतंजलि। Patanjali medicine for hair fall & growth 

पतंजलि आयुर्वेद मैं बाल झड़ने के लिए विभिन्न प्रकार की दवाइयां और उत्पाद उपलब्ध है लेकिन जब हमने बालो को झड़ने से रोकने के लिए पतंजलि मैं कार्यरत चिकित्सक से सलाह ली तो उन्होंने हमें कुछ दवाइयों और अन्य चिकित्सा पद्धति के बारे बयाता तथा जिसके बारे हम आपको आगे बताने वाले है।

  • दिव्य केशकान्ति कैप्सूल 
  • दिव्य फाईटर वटी
  • दिव्य केश कान्ति एडवांस तैल

2-2 कैप्सूल खाने के पूर्व गुनगुने जल से सेवन करें।

2-2 वटी खाने के बाद गुनगुने जल से सेवन करें।

दिव्य केश कान्ति एडवांस तैल को बालों की जड़ों में लगायें।

ALSO READ


बाल उगाने की आयुर्वेदिक दवा। आयुर्वैदिक medicine for hair growth 

  • काले तिल का चूर्ण 100 ग्राम
  • दिव्य आमलकी रसायन 200 ग्राम 
  • दिव्य सप्तामृत लौह 20 ग्राम
  • भृंगराज चूर्ण 100 ग्राम
  • दिव्य मुक्ता शुक्ति 10 ग्राम
  • दिव्य धात्री लौह 10 ग्राम

सभी औषधों को मिलाकर 60 पुड़िया बनाएं। प्रातः एवं सायं भोजन से आधा घण्टा पहले जल शहद या दूध से सेवन करें। इसके प्रयोग से बाल लम्बे होते हैं तथा नेत्र-विकारों में भी लाभ होता है।

इसके साथ दिव्य केश तैल तथा पतंजलि हेयर क्लींजर( शैंपू) का प्रयोग करने से विशेष लाभ होता है।

ALSO READ


बाल झड़ने से रोकने के लिए पतंजलि अन्य उपचार।

1. दिव्य केश कान्ति लेप एवं हेयर क्लींजर का प्रयोग करने से विशेष लाभ होता है।

2. पतंजलि न्यूट्रेला DAILY ACTIVE दिन में 2-2 कैप्सूल प्रातः सायं गुनगुने जल से सेवन करें।

3.पंचकर्म चिकित्सा- ।गण्डूष, कवल, शमन नस्य, शिरोलेप।

4.षट्कर्म चिकित्सा- जलनेति, सूत्रनेति, कुंजलक्रिया, शंखप्रक्षालन, योगनिद्रा, त्राटक, एक्यूप्रेशर 

5.प्राकृतिक चिकित्सा- पेट पर गरम ठण्डा सेक, मिट्टी की पट्टी, लपेंट, एनिमा, सिर पर मिट्टी का लेप, स्थानीय वाष्प, कटि स्नान, सिर की त्वचा की रगड़ कर मालिश व कंघी, छाछ या दही से बाल धोना, आंवला शिकाकाई रीठा से बाल धोना, बाल धीरे-धीरे खींचना। ध्यातव्य है कि भावनात्मक दृष्टि से सशक्त, आत्मविश्वास, प्रबल इच्छा शक्ति वालों के बाल कम झड़ते है।

ALSO READ


बाल झड़ने की दवा पतंजलि के नुक्सान, दुस्प्रभाव, साईड इफेक्ट। Patanjali medicine for hair fall side effects in hindi

बाल झड़ने के लिए उपयोग की जाने वाली पतंजलि दवाइयां पूर्ण रूप से आयुर्वेदिक है तथा यही कारण है कि इसके दुष्प्रभावों के बारे में चिकित्सा जगत में कोई जानकारी उपलब्ध नहीं है अथवा अज्ञात है।

लेकिन कुछ स्थितियों में इन दवाइयों के साइड इफेक्ट्स देखने को मिल सकते हैं तो आईए जानते हैं कि बाल झड़ने के लिए उपयोग की जाने वाली पतंजलि दवाइयों के क्या साइड इफेक्ट्स होते हैं।

  • निर्धारित मात्रा से अधिक और गलत तरीके से इन दवाओं का सेवन किए जाने पर इसके दुष्प्रभाव शरीर पर हो सकते हैं।
  • शराब पीने के बाद यदि कोई पुरूष या महिला इन दवाओं का उपयोग करता है तो ऐसी स्थिति में भी इसके दुष्प्रभाव होने के मौके हो सकते हैं।
  • ऐसे व्यक्ति जो कि किसी गंभीर बीमारी से पीड़ित है और वह बिना अपने डॉक्टर की सलाह के इन दवाइयों का सेवन करता है तो ऐसी स्थिति में भी इनके दुष्प्रभाव हो सकते हैं।
  • बाल झड़ने के लिए उपयोग की जाने वाली पतंजलि दवाइयों में उपस्थित किसी घटक सामग्री से एलर्जी होने के बावजूद यदि इनका सेवन किया जाता है तो ऐसी स्थिति में भी इसके नुकसान शरीर पर हो सकते हैं।
  • एक्सपायर हो चुके दवाइयां का सेवन किए जाने पर भी इसके दुष्प्रभाव शरीर पर हो सकते हैं इस्तेमाल के पहले दवाइयां पर एक्सपायरी डेट अवश्य चेक करें।

बाल झड़ने के लिए पतंजलि मेडिसिन का सेवन करते समय किसी भी प्रकार के दुष्प्रभावों का अनुभव होने पर इसे लेना बंद कर दे और तुरंत चिकित्सक से संपर्क करें।

बाल झड़ने के लिए उपयोग की जाने वाली पतंजलि दवाइयों के दुष्प्रभावों से जुड़े यदि आपके कुछ व्यक्तिगत अनुभव या जानकारी है तो कमेंट के माध्यम से हमारे साथ जरूर शेयर करें यह हमारे और हमारे पाठकों के लिए एक महत्वपूर्ण जानकारी होगी।

ALSO READ


बाल झड़ने पतंजलि दवा से सम्बन्धित सावधानी। Patanjali medicine hair fall warnings & precautions in hindi

बाल झड़ने के लिए पतंजलि दवाओं का उपयोग करते समय कुछ सावधानियां है जिन्हें ध्यान में रखना बेहद जरूरी है इन महत्वपूर्ण बातों को यदि आप ध्यान में रखते हैं तो अनजाने में होने वाली हानियों से बच सकते हैं।

  • गर्भवती महिलाओं को इन दवाओं का सेवन चिकित्सक की सलाह के बाद ही करना चाहिए यदि वह बिना डॉक्टर की सलाह के इन दवाओं का सेवन करती हैं तो मां और बच्चे के लिए यह नुकसानदायक हो सकता है।
  • ऐसे लोग जो कि किसी गंभीर बीमारी से पीड़ित हैं और वर्तमान समय में उपचार ले रहे हैं उन्हें इन दवाइयों का सेवन अपने चिकित्सक की सलाह के बाद ही करना चाहिए।
  • हाई ब्लड प्रेशर और डायबिटीज के मरीजों को इन दवाओं का सेवन करने से पहले अपने डॉक्टर की सलाह अवश्य लेनी चाहिए।
  • ऐसी महिलाएं जो की हाल ही में मां बनी है और अपने शिशु को स्तनपान कराती है उन्हें इन दवाओं का सेवन डॉक्टर की सलाह के बाद ही करना चाहिए।
  • बाल झड़ने के लिए उपयोग की जाने वाली पतंजलि दवाओं में उपस्थित किसी भी घटक सामग्री से एलर्जी अथवा किसी प्रकार की अन्य समस्या होने पर इन दवाओं का सेवन न करें।
  • अन्य किसी भी दवाई अथवा सप्लीमेंट्स के साथ इन दवाइयां का उपयोग करने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य लें।
  • बाल झड़ने के लिए उपयोग की जाने वाली पतंजलि दवाइयों का सेवन पैक पर दिए गए निर्देश अथवा चिकित्सक द्वारा बताए गए तरीकों से ही सेवन करें।
  • बाल झड़ने के लिए पतंजलि दवाओं का उपयोग करने से पहले पैक पर दिए गए सभी महत्वपूर्ण निर्देशों को ध्यानपूर्वक पढ़ें।
  • बाल के लिए पतंजलि दवाओं का उपयोग करने के पूर्व एक बार अपनी वर्तमान स्वास्थ्य स्थिति पर अच्छे से समीक्षा करें।

ALSO READ


बाल झड़ने की होम्योपैथिक दवा। homeopathic medicine for hair fall & growth 

होम्योपैथिक एक बहुत पुरानी और कागज के शपथ देती है जिसमें सभी प्रकार के रोगों के लिए उपचार और दवाइयां मौजूद है जिन्हें आप एक होम्योपैथिक चिकित्सक की सहायता से ले सकते हैं तथा बात करें बाल झड़ने की होम्योपैथिक दवा की तो यह कुछ इस प्रकार है।

  • थुजा ऑक्सिडेंटलिस
  • फॉस्फोरस
  • इंकी जूस ऑफ कटलफिश
  • फॉस्फोरिकम एसिडम
  • फ्लोरिकम एसिडम
  • मेजेरियम

बाल उगाने की होम्योपैथिक दवा। Homeopathic medicine for hair growth 

होम्योपैथिक चिकित्सा बालों के उपचार के लिए एक सिद्ध और कारगर चिकित्सा पद्धति मानी जाती है तथा बाल उगाने के लिए होम्योपैथिक दावों में शामिल है।

  • कैल्केरिया कार्बोनिका
  • बैराइटा कार्बोनिका
  • विंका माइनर
  • फ़्लुरिकमएसिडम

यह भी पढ़े


FAQ: बाल झड़ने की दवा पतंजलि

Q: बहुत ज्यादा बाल झड़ने पर क्या करें?

Ans: बहुत ज्यादा बाल झड़ने पर किसी बालो के विशेषज्ञ डॉक्टर से परामर्श और उपचार लेने इसके अलावा आप कुछ घरेलू उपाय का भी उपयोग कर सकते हैं तथा इसके अलावा यदि आप एक पुरुष हैं तो बाल झड़ने की स्थिति में बालों को छोटा रखें जिससे कि बाल कम झड़ेंगे।

Q: बालों के झड़ने के लिए कौन सा पतंजलि तेल सबसे अच्छा है?

Ans: बालों के झड़ने के लिए पतंजलि केश कांति एडवांस्ड हर्बल हेयर एक्सपर्ट तेल सबसे अच्छा तेल माना जाता है।

Q:बाल झड़ने की आयुर्वेदिक दवा क्या है?

Ans: बाल झड़ने से रोकने के लिए आयुर्वेदिक दावों में आप आमला चूर्ण ,भृंगराज चूर्ण ,आमला रसायन चूर्ण जैसे दवाइयां का उपयोग कर सकते हैं। इसके साथ आप एंटी हेयर फॉल शैंपू और हेयर ऑयल का भी उपयोग कर सकते हैं।

Q: कौन सा तेल लगाने से बाल झड़ना बंद हो जाता है?

Ans: पतंजलि केश कांति एडवांस्ड हेयर ऑयल,केरला आयुर्वेद की नीलीभृंगिणी तेल,डाबर महा भृंगराज तेल लगाने से बाल झड़ना बंद हो जाता है।

Bablu Bhengra
Spread the love

Leave a Comment