कुमारी आसव के फायदे नुकसान उपयोग सावधानी।kumaryasava in hindi

दोस्तों इस लेख में हम कुमारी आसव के फायदे और नुकसान के बारे में जानेंगे कुमारी आसव आर्युवेद की एक जानी मानी औषधि है जिसे अलग अलग कंपनियों द्वारा बनाए जाता है।

इसके अतिरिक्त हम इस लेख मैं आपको कुमारी आसाव के फायदों और नुकसान के अलावा कुमारी आसव का  सेवन केसे किया जाता है तथा इसके इस्तेमाल के दौरान हमे कौन कौन सी सावधानियों का ध्यान रखना चाहिए इसके बारे मैं भी हम इस लेख मैं जानेंगे।


विषय सूची

कुमार्यासव क्या है। kumaryasava in hindi

कुमार्यासव जिसे हम भारतीय लोग कुमारी आसव भी कहते है यह आयुर्वेद की आसव विधि से निर्मित एक हर्बल आयुर्वेदिक सिरप है जिसका उपयोग मुख्य रूप से उदर संबधी रोगों के उपचार हेतु किया जाता है।

इसके अलावा कुमार्यासव अन्य शारीरिक समस्याओं के उपचार में भी उपयोगी होता है जिसके बारे में हम आगे विस्तार से जानने वाले हैं कुमार्यासव का निर्माण भारत की सभी प्रसिद्ध आयुर्वेदिक कंपनियां करती हैं।

यह भी पढ़े


कुमारी आसव के फायदे। Kumaryasava Benefits in Hindi

कुमार्यासव एक अत्यंत उपयोगी ओर फायदेमंद दवाई है जो की कई प्रकार से हमारे शरीर को फायदा पहुँचती है एवम यह  रोगों से बचाव और उसके उपचार मैं मदद करती है।

तो आइए कुमार्यासव के फायदों के बारे मैं विस्तार से जानते है।

1.लाल रक्त कोशिकाओं की कमी मैं भी उपचार करे।

शरीर को स्वस्थ्य बनाए रखने के लिए यह बेहद जरूरी है की पर्याप्त मात्रा मैं लाल रक्त कोशिकाओं शरीर मैं मौजूद हो तथा कुमार्यासव ऐसी स्थिति मैं भी उपचार मैं मदद करता है जहा लाल रक्त कोशिकाओं की संख्या कम हो।

2.भूख को बढ़ाए कुमार्यासव

कुमार्यासव पाचन एंजाइमों को उत्तेजित कर पाचन क्रिया की तेजी को बढ़ाने का कार्य करता है जिसके कारण भूख न लगने जेसी समस्या दूर होती है और भूख बढ़ती है।

3.कब्ज को दूर करे कुमार्यासव

पुरानी कब्ज के लिए भी कुमार्यासव काफी फायदेमंद होता है इसमें चित्रक,हरितकी,जायफल जेसी औषधियां सम्मिलित होती है जो की कब्ज की समस्या को दूर करने मै सहायता प्रदान करती है।

यह भी पढ़े

4.तिल्ली (spleen) संबंधी रोगों मैं भी फायदेमंद।

कुमार्यासव तिल्ली जिसे spleen कहा जाता है इससे संबंधित रोगों के उपचार मैं काफी लाभकारी माना जाता है तिल्ली हमारे शरीर मैं यूरिक अम्ल के निर्माण मैं मदद करती है और प्रोटीन के उपापचय मैं योगदान प्रदान करती है।

5.लिवर बढ़ने की समस्या मैं भी उपयोगी।

लिवर हमारे शरीर का एक महत्त्वपूर्ण अंग है तथा लिवर बढ़ने की समस्या के निदान मैं कुमार्यासव फायदेमंद होता है लिवर बढ़ना जिसे मेडिकल की भाषा मैं हेपटोमेगेली कहा जाता है। यह समस्या लिवर मैं सूजन होने की वजह से होती है तथा इस समस्या मैं कुमार्यासव का सेवन करके लाभ लिया जा सकता है।

6. शर्दी,खासी,जुखाम से राहत दिलाए।

कुमार्यासव पाचन के साथ साथ सर्दी,खासी और जुकाम जैसी समस्यायों के लिए भी फायदेमंद माना जाता है इसमें लांग,शहद और गुड उपस्थित होता है जो की इन सभी समस्यायों से निपटने मैं मदद करते है।

7.पाचन मैं सुधार करे।

अगर आप अपने खराब पाचन से परेशान है तो कुमार्यासव की सहायता ले सकते है यह पाचन संबंधित दिक्कतों को दूर करता है और पाचन मैं सुधार करता है।

यह भी पढ़े


कुमारी आसव के अन्य लाभ।Kumaryasava Uses in Hindi

1 .मूत्र संबंधी रोगों के लिए भी फायदेमंद।

मूत्र संबंधी मामलों के लिए भी कुमार्यासव सिरप उपयोगी माना जाता है।  इसमें धातकी, जटामासी, ऐलोवेरा उपस्थित होते है इसके साथ ही साथ इसमें एंटी ऑक्सीडेंट, एंटी बैक्ट्रियल गुण भी मोजूद होते है जो की मूत्र संबंधी रोगों के उपचार ओर मूत्र पथ मैं होने वाली रुकावट को दूर करने मै सहायक माने जाते है।

2 .गैस्ट्रिक अल्सर के उपचार मैं उपयोगी।

अल्सर पेट मैं होने वाली एक गंभीर बीमारी है जिसमे पीड़ित व्यक्ति का बहुत दर्द ओर समस्यायों का सामना करना पड़ता है तथा  गैस्ट्रिक अल्सर ड्यूडिनल अल्सर के उपचार के लिए भी कुमार्यासव का उपयोग किया जाता है।

3. ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करे।

ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखने के लिए भी कुमार्यासव का उपयोग किया जाता है यह रक्त चाप को नियंत्रित रखने का कार्य करती है तथा कुमार्यासव को ब्लड प्रेशर के लिए एक सहायक दवाई के तौर पर देखा जा सकता है।

4 .लिवर को कार्यप्रणाली को सुधारे।

खराब और असंतुलित खान पान के कारण अक्सर हमारी लिवर की कार्यप्रणाली प्रभावित होती है जिसके कारण पाचन और पेट से संबंधित दूसरी अन्य समस्याएं होने लगती है तथा कुमार्यासव लिवर फंक्शन ( कार्यप्रणाली ) को सही रखता है और किसी प्रकार की गड़बड़ी होने पर सुधार करने मै मदद करता है।

5.महिलाओ के लिए भी उपयोगी

अक्सर महिलाए मासिक धर्म की अनियमितताओं (इनरेगुलर पीरियड्स) के कारण परेशान रहती है तथा कुमार्यासव महिलाओ मैं होने वाले मासिक धर्म के अनियमितताओं के इलाज मैं भी मदद करता हैं। तथा मासिक धर्म के दौरान होने वाले दर्द को भी यह कम करता है।

6.कुमारी आसव फॉर फैटी लिवर

कुमार्यासव एक हर्बल अर्क है तथा फैटी लिवर की समस्या मैं काफी लाभ पहुंचाता है इसमें एलोवेरा,हरड़, ढ़ाई फूल चित्रकमूल जेसी लाभकारी औषधियां सम्मिलित की गई है जो फैटी लिवर की समस्या से निपटने मैं सहायक होते है।

यह भी पढ़े


कुमारी आसव के नुकसान। kumaryasava side effects in hindi

कुमार्यासव एक आयुर्वेदिक औषधि है तथा यही कारण है की इसके दुष्प्रभावों के बारे में चिकित्सा जगत में ज्यादा जानकारी उपलब्ध नहीं है अथवा अज्ञात है।

लेकिन कुछ स्थितियों में कुमार्यासव के नुकसान देखने को मिल सकते हैं। तो आइए जानते हैं कि कुमार्यासव के क्या साइड इफेक्ट्स है।

  • निर्धारित मात्रा से अधिक और गलत तरीके से कुमारी आसव का सेवन किए जाने पर इसके दुष्प्रभाव देखने को मिल सकते हैं।
  • शराब पीने के बाद यदि कोई व्यक्ति कुमारी आसव का सेवन करता है तो ऐसी स्थिति में भी इसके नुकसान शरीर पर देखने को मिल सकते हैं क्योंकि यह अल्कोहल में मिश्रित होकर शरीर पर विपरीत प्रभाव डाल सकता है।
  • कुमारी आसव में उपस्थित किसी घटक से एलर्जी होने के बावजूद यदि इसका इस्तेमाल किया जाता है तो इसके नुकसान हो सकते हैं।
  • ऐसे लोग जो कि किसी गंभीर बीमारी से पीड़ित हैं और बिना डॉक्टर की सलाह के कुमार्यासव का सेवन करते हैं तो ऐसी स्थिति में भी इसके नुकसान होने के मौके होते हैं।
  • एक्सपायर हो चुके कुमार्यासव का सेवन करने पर भी इसके दुष्प्रभाव देखने को मिल सकते हैं।

कुमार्यासव के सेवन के दौरान किसी प्रकार के दुष्प्रभाव देखने को मिलते हैं तो तुरंत चिकित्सक से संपर्क करें।

कुमारी आसव के दुष्प्रभावों से जुड़े आपके कुछ व्यक्तिगत अनुभव या जानकारी है तो कमेंट के माध्यम से हमारे साथ जरूर शेयर करें यह हमारे और हमारे पाठकों के लिए एक महत्वपूर्ण जानकारी होगी।”

यह भी पढ़े


कुमार्यासव से संबंधित सावधानी। kumaryasav caution in hindi

कुंवारे अशोक का सेवन करने से पहले कुछ सावधानियां हैं जिन्हें ध्यान में रखना बेहद जरूरी होता है इन महत्वपूर्ण बातों को यदि आप ध्यान में रखते हैं तो अनजाने में होने वाली हानि से बच सकते हैं।

  • गर्भवती महिलाओं को कुमारी आसव का सेवन चिकित्सक की सलाह के बाद ही करना चाहिए यदि वह बिना चिकित्सक की सलाह के इसका उपयोग करते हैं तो इसके दुष्प्रभाव हो सकते हैं।
  • ऐसे व्यक्ति जो कि किसी गंभीर स्वास्थ्य समस्या से पीड़ित हैं और वर्तमान में उपचार ले रहे हैं उन्हें इसका सेवन डॉक्टर की सलाह के बाद ही करना चाहिए।
  • हाई ब्लड प्रेशर और शुगर के मरीजों को कुमार्यासव का सेवन चिकित्सक की सलाह के बाद करना चाहिए यह ज्यादा सुरक्षित माना जाता है।
  • कुमार्यासव में उपस्थित किसी घटक सामग्री से किसी प्रकार की एलर्जी या समस्या होने पर इसका सेवन नहीं करना चाहिए।
  • ऐसी महिलाएं जो कि हाल ही में मां बनी है और अपने शिशु को स्तनपान कराती हैं उन्हें इसका सेवन चिकित्सक की सलाह के बाद ही करना चाहिए।
  • कुमार्यासव का सेवन करने से पहले पेपर दिए गए निर्देश तथा अन्य जानकारी को ध्यानपूर्वक पढ़ें उसके बाद ही इसका सेवन करें।
  • कुमारी आसव का सेवन पेपर दिए गए निर्देश अथवा चिकित्सक द्वारा बताए गए तरीके से ही करें।

यह भी पढ़े


कुमार्यासव सेवन विधि। How to use kumaryasava in hindi

कुमारी आसव का सेवन कैसे करें। किसी भी दवाई को लेने का एक सही समय और तरीका होता है तभी यह आपके शरीर को पूर्ण रूप से फायदा पहुंचाती है।

ठीक उसी प्रकार से कुमार्यासव को भी देने का एक सही समय और तरीका है।

तो आइए जानते हैं कि कुमार एस ओ का इस्तेमाल कैसे किया जाता है।

विधी: कुमारी असव का लाभ लेने के लिए 15 से 30 ml कुमारी असव लीजिए और इसमें उतनी ही मात्रा मैं मिलाइए और सुबह शाम भोजन के बाद सेवन कीजिए।

ध्यान रहे : कुमार्यासव का सेवन आप यदि डॉक्टर की सलाह से कर रहे हैं तो उनके द्वारा बताये गए तरीके से ही करे। 


कुमार्यासव की कीमत। kumaryasava price

कुमार्यासव सिरप भारत की सभी प्रसिद्ध आयुर्वेदिक दवाई कंपनियां बनाती है जिनकी कीमत कुछ प्रकार है।

कुमारी आसव पतंजलि=  88/–Rs 450 ML

बैधनाथ कुमारी आसव = 123/–Rs 450 ML

डाबर कुमार्यासव = 133/–Rs 450 ML

केरला आयुर्वेद= 130/–Rs 435 ML


FAQ: कुमार्यासव के फायदे और नुकसान।

Q: कुमारी आसव की तासीर कैसी होती है

Ans: कुमारी आसव की तासीर थोड़ी सी गर्म होती है क्योंकि इसमें शहद, गुड़ भी मिश्रित होता है जो की स्वभाव से गर्म होती हैं।

Q: क्या कुमार्यासव लिवर के लिए अच्छा है?

Ans: कुमार्यासव एक काफ़ी फायदेमंद दवाई है जो पेट संबंधी रोगों के उपचार ओर लिवर के लिए काफी लाभकारी होता है यह लिवर मैं आई सूजन की कम करता है और लिवर की कार्यप्रणाली मैं सुधार करता है।

Q:कुमारी आसव का क्या काम है?

Ans: कुमारी आसव पाचन मैं सुधार करती है, गैस, कब्ज,पेट फूलना ,बवासीर जेसी पेट की समस्या मैं कुमार्यासव फायदेमंद होता है इसके अलावा यह सर्दी खासी, ब्लड प्रेशर,मूत्र रोग और अल्सर जेसे रोगों मैं भी उपयोगी 

Q: डाबर कुमार्यासव का क्या उपयोग है?

Ans: डाबर कुमार्यासव सर्दी, खांसी, ब्रोकाइटिस जेसी स्वास संबधी समस्यायों मूत्र पथ के विकारों फैटी लिवर, कब्ज महिलाओ मैं इनरेगुलर पीरियड्स भूख न लगना और पाचन के लिए फायदेमंद होता हैं।

Bablu Bhengra
Spread the love

Leave a Comment